Heart Attack- Causes, Symptoms , Treatment | दिल का दौरा । कारण, लक्षण, और उपचार

Heart Attack- Causes, Symptoms , Treatment  दिल का दौरा । कारण, लक्षण, और उपचार

Heart Attack

    दिल का दौरा (Heart Attack) तब होता है; जब कोई चीज आपके हृदय के रक्त के प्रवाह को अवरुद्ध कर देती है, इसलिए उसे पर्याप्त ऑक्सीजन  नहीं मिल पता  है। २०१९ में हुए अध्ययन अनुसार एशिया में  १७ % लोगोंको दिल का दौरा पड़ता है। 

दिल के दौरे को मायोकार्डिअल इन्फ्रक्शन (एमआई) भी कहा जाता है। "मायो" का अर्थ है मांसपेशी, "कार्डियल" हृदय को संदर्भित करता है, और "रोधगलन" का अर्थ है रक्त की आपूर्ति में कमी के कारण पेशी की मृत्यु। इस पेशी के मृत्यु की वजहसे आपके हृदय की मांसपेशियों को स्थायी नुकसान पहुंच सकता है।



Heart Attack Symptom's

  1. बेचैनी, दबाव, भारीपन, जकड़न, निचोड़ना, छाती या बांह में या आपके स्तन के नीचे दर्द होना|
  2. दर्द की भावना जो आपकी पीठ, जबड़े, गले या बांह से हो कर गुजरती है|
  3. अपचन, या घुटन की भावना|
  4. पसीना, पेट खराब होना, उल्टी या चक्कर आना
  5. गंभीर कमजोरी, चिंता, थकान या सांस की तकलीफ
  6. तेज़ या असमान दिल की धड़कन लक्षण
   व्यक्ति दर व्यक्ति दिल के दौरे भिन्न हो सकते हैं। महिलाओं में पेट में जलन, सांस लेने में तकलीफ पीठ या जबड़े में दर्द जैसे लक्षण होने की संभावना अधिक होती है। 

कुछ लोगो में  दिल के दौरे के साथ, आपको कोई भी लक्षण (Slient Attack) दिखाई नहीं देंगे। यह उन लोगों में अधिक आम है जिन्हें मधुमेह (Diabetes) है।

आपके हृदय की मांसपेशियों को ऑक्सीजन युक्त खून की निरंतर आवश्यकता होती है। आपकी कोरोनरी धमनियां आपके हृदय को इस महत्वपूर्ण खून की आपूर्ति देती हैं। यदि आपकी कोरोनरी धमनी बीमार है, तो वे धमनियां संकरी हो जाती हैं, और खून का बहना काम हो जाता है। 

जब आपकी खून की आपूर्ति अवरुद्ध हो जाती है, तो आपको दिल का दौरा पड़ता है। वसा, कैल्शियम, प्रोटीन और शरीर की कुछ कोशिकाएँ आपकी धमनियों में गुठलिया बनती हैं। ये गुठलिया बाहर की तरफ कठोर और अंदर की तरफ नरम होती हैं।

    जब गुठलिया कठोर हो जाती है, तो बाहरी आवरण में  दरार आ जाती है। प्लेटलेट्स इस क्षेत्र के संपर्क में आती हैं, और खून की गुठलिया चारों ओर बनाती  हैं। यह खून की  गुठलिया आपकी धमनी को अवरुद्ध कर देती है, तो आपके हृदय की मांसपेशी ऑक्सीजन के लिए भूखी हो जाती है। 

इस स्थिति में मांसपेशियों की कोशिकाएं जल्द ही मर जाती हैं, जिससे स्थायी क्षति होती है। शायद कभी, आपकी कोरोनरी धमनी में ऐंठन के कारण आपको दिल का दौरा पड़ सकता है। इस कोरोनरी ऐंठन के दौरान, आपकी हृदय की मांसपेशियों में खून की आपूर्ति में कटौती करने से आपकी धमनियां ऐंठन होती हैं। 

यह तब भी हो सकता है जब आप आराम कर रहे हों और भले ही आपको गंभीर कोरोनरी धमनी की बीमारी न हो।प्रत्येक कोरोनरी धमनी (Coronary artery  )आपके हृदय की मांसपेशियों के एक अलग हिस्से में खून भेजती है। 

मांसपेशियों को कितना नुकसान पहुंचा है यह उस क्षेत्र के आकार पर निर्भर करता है, जो अवरुद्ध धमनी की आपूर्ति करती है; और हमले और उपचार के बीच समय की मात्रा।

    दिल का दौरा पड़ने के बाद आपकी हृदय की मांसपेशी ठीक होने लगती है। इसमें लगभग 8 सप्ताह लगते हैं। त्वचा के घाव की तरह। लेकिन नयी पेशी उस प्रभावी तरीकेसे कार्य नहीं करती जैसे उसे करना चाहिए। 

तो दिल का दौरा पड़ने के बाद आपका दिल उतना खून पंप नहीं कर सकता है; जितना उसे करना चाहिए। पंप  करने की क्षमता कितनी प्रभावित होई है, यह इस बात पर निर्भर करता है की दिल के दौरेमे कितनी हानि पोह्ची है।
    दिल का दौरा पड़ने पर मैं क्या करूँ? दिल का दौरा पड़ने के बाद, आपको अवरुद्ध धमनी को खोलने और क्षति को कम करने के लिए त्वरित उपचार की आवश्यकता होती है।

दिल का दौरा पड़ने जैसे लक्षण दिखने पर, अपने डॉक्टर को कॉल करें। दिल का दौरा पड़ने से 1 या 2 घंटे पहले लक्षण दिखयी देने शुरू होते है; और यही समय इलाज के लिए महत्वपूर्ण होता है। लंबे समय तक प्रतीक्षा करने का अर्थ है आपके दिल को अधिक नुकसान पोहचना और आपके जीवित रहने की संभावना कम करना।

Heart Attack Diagnosis


आपातकालीन चिकित्सा कर्मचारी आपसे आपके लक्षणों के बारे में पूछेंगे और कुछ परीक्षण करेंगे।

  • EKG

      एक ईकेजी (जिसे एक इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम या ईसीजी के रूप में भी जाना जाता है) बता सकता है; कि आपके हृदय की मांसपेशियों को कितना नुकसान हुआ है| यह आपके हृदय गति और लय की निगरानी भी कर सकता है।


  • Blood Test

    आपके रक्त में हृदय एंजाइमों के विभिन्न स्तर, हृदय की मांसपेशियों के नुकसान का संकेत दे सकते हैं। ये एंजाइम आमतौर पर आपके दिल की कोशिकाओं के अंदर होते हैं। जब वे कोशिकाएं घायल हो जाती हैं, तो उनकी सामग्री एंजाइम सहित आपके रक्तप्रवाह में फैल जाती है। 

इन एंजाइमों के स्तर को मापकर, आपका डॉक्टर दिल के दौरे के आकार का पता लगा सकता है| ट्रोपोनिन के स्तर को भी माप सकते हैं। ट्रोपोनिन्स हृदय की कोशिकाओं के अंदर के प्रोटीन होते हैं| जो तब जारी होते हैं जब कोशिकाएं आपके दिल को रक्त की आपूर्ति की कमी से क्षतिग्रस्त हो जाती हैं।

  • Echocardiography  

    इस इमेजिंग परीक्षण का उपयोग दिल के दौरे के दौरान और बाद में किया जा सकता है, ताकि यह जानने के लिए कि आपका दिल कैसे पंप कर रहा है| "प्रतिध्वनि" यह भी बता सकती है कि क्या आपके दिल का कोई हिस्सा (वाल्व, सेप्टम आदि) दिल के दौरे में घायल हुआ है।

  • Medicines

ड्रग थेरेपी का उद्देश्य खून के गुठलियोंको को तोड़ना या रोकना, प्लेटलेट्स को इकट्ठा होने से रोकना और गुठलिया चिपकना, गुठलिया को स्थिर करना और रोकना हो सकता है।
जितनी जल्दी हो सके इन दवाओं को लें (दिल के दौरे की शुरुआत से 1 या 2 घंटे के भीतर, यदि संभव हो तो) दिल के नुकसान को सीमित करने के लिए।

Heart Attack Treatment


  • Bypass Surgery

    आपके दिल को रक्त की आपूर्ति को बहाल करने के लिए दिल का दौरा पड़ने के बाद  आपकी बाईपास सर्जरी हो सकती है। बाईपास सर्जरी कोरोनरी धमनी का केवल इलाज करने के लिए नहीं करते हैं; बल्कि आपको एक और दिल का दौरा पड़ने की संभावना को कम करने के लिए कदम उठा सकते हैं।

दिल का दौरा पड़ने के बाद का लक्ष्य आपके दिल को स्वस्थ रखना है; और फिरसे दिल का दौरा पड़ने के जोखिम को कम करना है।

          डॉक्टरों द्वारा निर्देशित की गयी दवाएं लें, जीवन शैली में बदलाव करें, और नियमित रूप से दिल के चेकअप के लिए अपने डॉक्टर को मिले।

दिल का दौरा पड़ने के बाद आप डाक्टर द्वारा निर्देशित कुछ दवाओं का सेवन कर सकते हैं: जैसे;
  1. खून की घुठलिया बने से रोकनेके लिए
  2. अपने दिल को बेहतर काम करने में मदद करें
  3. कोलेस्ट्रॉल को कम करके रक्त की गुठलिया को रोकें;
    जो एक असमान दिल की धड़कन का इलाज करती हैं, आपके रक्तचाप (Blood Pressure) को कम करती हैं, सीने में दर्द को नियंत्रित करती हैं, और हृदय की विफलता का इलाज करती हैं।दिल का दौरा पड़ने के बाद जीवनशैली में बदलाव की जरूरत है

दिलके दौरे के इलाज के बाद अस्पताल छोड़ने के 4 से 6 सप्ताह बाद डॉक्टर से मिले| आपका डॉक्टर आपकी रिकवरी की जांच करना चाहेगा। आपको नियमित रूप से व्यायाम, तनाव परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है। 

ये परीक्षण आपके डॉक्टर को आपकी कोरोनरी धमनियों में रुकावट की जानकारी में मदद कर सकते हैं; और डॉक्टर आपके उपचार की योजना बना सकते हैं।

अपने डॉक्टर को कॉल करें; यदि आपके सीने में दर्द जैसे लक्षण हैं| जो बार- बार होता है, मजबूत हो जाता है, लंबे समय तक रहता है, या अन्य क्षेत्रों में फैलता है; सांस की तकलीफ, खासकर जब आप आराम कर रहे हों; सिर चकराना, या असमान दिल की धड़कन।

दिल की बीमारी बदतर होने से बचाने के लिए और दिल का दौरा पड़ने से बचने के लिए अपने डॉक्टर की सलाह का पालन करें।
आपको अपनी जीवन शैली बदलने की आवश्यकता हो सकती है, जिसमें शामिल हैं|
  • धूम्रपान बंद करना
  • अपने कोलेस्ट्रॉल को कम करना
  • अपने मधुमेह और रक्तचाप को नियंत्रित करना
  • व्यायाम योजना का पालन करना
  • शरीर का वजन स्वस्थ रखना
  • तनाव पर नियंत्रण रखना
    अगर यह लेख आपको पसंद आया होतो प्लीज लाइक, शेयर और सब्सक्राइब जरूर करे। और निचे कमेंट बॉक्स में अपना सुझाव देना ना भूले। 
धन्यवाद्।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां